प्रतिक्रिया
no image avaliable

 “वैक्सीनोलोजी और इम्यूनोबायोलॉजिकल्स में स्नातकोत्तर डिप्लोमा

 

पाठ्यक्रम के बारे में

भारत में “वैक्सीनोलोजी और इम्यूनोबायोलॉजिकल्स” में स्नातकोतर डिप्लोमा अपनी तरह का पहला पाठ्यक्रम है और इसे मूल रूप से कुशल जनशक्ति बनाने के लिए माननीय प्रधानमंत्री के मिशन के अनुरूप बनाया गया है, कौशल भारत” एक समग्र लक्ष्य के साथ वैक्सीन और फार्मास्युटिकल क्षेत्र, विशेष रूप से वैक्सीन और इम्यूनोबायोलॉजिकल विनिर्माण, परीक्षण, प्रलेखन आदि के क्षेत्रों में सक्षम और कुशल जनशक्ति की उपलब्धता सुनिश्चित करवाना है। इसलिए ऐसे कुशुल कर्मचारियों की देश (सार्वजनिक और निजी दोनों क्षेत्रों) की मांग को पूरा करने के लिए, इस कोर्स को शुरू किया जा रहा है। केन्द्रीय अनुसंधान संस्थान, कसौली एक मान्यता प्राप्त संस्थान है और हिमाचल प्रदेश विश्वविद्यालय, शिमला से संबद्धता के अंतर्गत वैक्सीनोलोजी और इम्यूनोबायोलॉजिकल्स विषय पर एक वर्षीय स्नारकोत्तर डिप्लोमा पाठ्यक्रम संचालित कर रहा है।

अन्य विवरण/अपेक्षतायेँ:-

पात्रता

हिमाचल प्रदेश विश्वविद्यालय, शिमला द्वारा मान्यता प्राप्त किसी भी संस्थान/विश्वविद्यालय से सूक्ष्मजीव विज्ञान, चिकित्सीय सूक्ष्मजीव विज्ञान, जैव रसायन, जैव प्रौद्योगिकी, प्रतिरक्षा विज्ञान, वनस्पति विज्ञान, प्राणी विज्ञान आदि सहित जीवन विज्ञान के किसी भी विषय में सामान्य वर्ग के लिए कुल अंकों का कम से कम 55% और अनुसूचित जाति/अनुसूचित जनजाति वर्ग के छात्रों के लिए 50% अंक के साथ स्नातकोत्तर डिग्री या एम.डी/एमवीएससी ।

चयन करने का मापदंड

मास्टर डिग्री स्तर की शिक्षा के मेरिट के आधार पर चयन

पाठ्यक्रम की अवधि

एक वर्ष (दो सेमेस्टर)

सीटों की संख्या

20

(हिमाचल प्रदेश विश्वविद्यालय के दिशा निर्देशों के अनुसार आरक्षण)

आवेदन शुल्क (अप्रतिदेय)

सामान्य वर्गः रू 400/-

अन्य पिछडा वर्गः रू 300/-

अनुसूचित जाति/अनुसूचित जनजाति वर्गः रू 200/-

के.अ.सं. द्वारा प्रभार्य शुल्क

पाठ्यक्रम शुल्कः रू 48,000/-

एक बार जमा करवाई जाने वाली संस्थागत प्रतिभूति (प्रतिदेय)- रू 10,000/-

एक बार जमा करवाई जाने वाली पुस्तकालय प्रतिभूति (प्रतिदेय)- रू 2,000/-

*पंजीकरण शुल्क, परीक्षा शुल्क विश्वविद्यालय के दिशानिर्देशॉ के अनुसार होगा और सीधे हिमाचल प्रदेश विश्वविद्यालय में जमा किया जाएगा।

छात्रावास की सुविधा

छात्रावास की सुविधा छात्रावास में उपलब्ध रिक्ति के अनुसार केवल छात्राओं प्रदान की जाएगी।

आवेदन कैसे करें

समाचार पत्र में विज्ञापन के प्रकाशन के बाद, उम्मीदवार आवेदन पत्र के.अ.सं., कसौली वेबसाइट से डाउनलोड कर सकता हैं और निर्धारित प्रारूप में भरे हुए आवेदन पत्र निर्धारित तिथि के भीतर भेजा जाना चाहिए। विधिवत भरा हुआ आवेदन पत्र डाक द्वारा निदेशक, केन्द्रीय अनुसंधान संस्थान, कसौली-173204 को भेजा जा सकता है अथवा  सीधे सामान्य अनुभाग, के.अ.सं., कसौली में जमा करवाया जा सकता है।

वेबसाइट का पता

http://crikasauli.nic.in

 

 

वैक्सीनोलोजी और इम्यूनोबायोलॉजिकल्स में स्नातकोतर डिप्लोमा के लिए पाठ्यक्रम की रूपरेखा

पाठ्यक्रम सं.

पाठ्यक्रम का शीर्षक

अंक

कुल अंक

थ्यूरी

प्रेक्टिकल

आंतरिक मूल्यां

सेमेस्टर -

पीजीडीवीआई-101

वैक्सीन उत्पादन

80

40

30

150

पीजीडीवीआई-102

ऐंटीसीरा उत्पादन

80

40

30

150

पीजीडीवीआई-103

रोगनैदानिक अभिकर्मक उत्पादन

80

40

30

150

पीजीडीवीआई-104

प्रोजेक्ट रिपोर्ट और मौखिक परीक्षा

-

-

50

50

सेमेस्टर - । में कुल अंक

240

120

140

500

सेमेस्टर - ।।

पीजीडीवीआई.-201

गुणवत्ता नियंत्रण

80

40

30

150

पीजीडीवीआई.-202

गुणवत्ता आश्वासन और सीजीएमपी

80

40

30

150

पीजीडीवीआई-203

जन्तु देखभाल और प्रबंधन

80

40

30

150

पीजीडीवीआई-204

प्रोजेक्ट रिपोर्ट और मौखिक परीक्षा

-

-

50

50

सेमेस्टर - । में कुल अंक

240

120

140

500

कुल योग (सेमेस्टर ।-।।)

480

240

280

1000

उम्मीदवार(रों) द्वारा प्रस्तुत प्रोजेक्ट रिपोर्ट का मूल्यांकन, संगोष्ठी तथा छात्रों की मौखिक परीक्षा का संचालन बाह्य परीक्षकों द्वारा किया जाएगा।